बीमारियों से मुक्ति की पुष्टि

असाध्य रोगों से पीड़ित साधक जैसे- एड्स, कैंसर, हिमोफीलिया, टीबी आदि से ठीक हो चुके हैं। अनुभवों को पढ़ें और शेयर करें।

.
Image Badrinarayan

मैं बद्रीनारायण पुत्र श्री जोरारामजी, मुझे कई दिनों तक बुखार आने पर दिनांक 13.09.2001 को डाॅ. सी. पी. माथुर को दिखाया व खून टेस्ट करवाया तो एच.आई.वी. पाॅजीटिव बताया। डाॅक्टर ने जो दवाईयाँ दी वो लेता रहा, लेकिन बीमारी ठीक नहीं हुई व निरन्तर स्वास्थ्य गिरता गया व बीमारी ने गंभीर रूप ले लिया।

पता

Indian Flag जोधपुर
Image तुलसी देवी

सितम्बर, 2017 में मुझे सर दर्द की शिकायत हुई। मैंने डाॅक्टर को दिखाया तो उन्होंने कुछ दवाईयाँ दी और घर भेज दिया। थोड़ा फर्क पड़ा पर कुछ ही दिनों में असहनीय दर्द शुरू हो गया। कुछ समय बाद बाईं आँख से दिखना बंद हो गया। एम्स, जोधपुर के डाॅक्टरों को दिखाया तो उन्होंने कहा कि यह एक असाध्य रोग है, इसका कहीं भी इलाज नहीं है।

पता

Indian Flag जोधपुर
Image Gangaram

एड्स ही मरा, गंगा नहीं! गंगा तो गोविंद से मिल गया!! आज मेरे दो बच्चे हैं जो पूर्णतः स्वस्थ हैं तथा पत्नी के भी एड्स नहीं है। जबकि विज्ञान के अनुसार यदि पति एचआईवी पीड़ित है तो पत्नी भी होगी। सिद्ध योग से आगे विज्ञान नहीं है। मैं एचआईवी पीड़ित था। शादी से पहले अचानक मेरी तबीयत बिगड़ गई।

पता

Indian Flag बाड़मेर
Image रामेश्वर प्रसाद

मेरा नाम रामेश्वर प्रसाद है, मैं एक ट्रक ड्राईवर हूँ। मुझे मार्च 2011 में गर्दन में दर्द महसूस हुआ, उस समय मैं गुजरात में था। मेरा दर्द धीरे-धीरे बढ़ गया और गाड़ी चलाना मुश्किल हो गया। मैंने SMS हाॅस्पिटल जयपुर में डाॅक्टरों को दिखाया तो उन्होंने कैंसर घोषित (Declare) कर दिया और मेरी रिपोर्ट जाँच के लिए मुम्बई भेज दी।

पता

Indian Flag जयपुर
Image ताराराम पालीवाल

मैं (ताराराम पालीवाल) बाड़मेर जिले के बालोतरा शहर में फैक्ट्री में काम करता हूँ। मैं लगभग बीस वर्षों से टी. बी. से पीड़ित था। हर महीनें लगभग दो हजार रूपये की दवाई खा जाता था। थोड़ी सी धुल उड़ने पर मुझे श्वास की तकलीफ हो जाती थी, मैं परेशान हो चुका था। एक दिन मेरे एक मित्र ने मुझे गुरुदेव सियाग सिद्धयोग के बारे में बताया।

पता

Indian Flag बाड़मेर
Image Pukhraj Ram

मैं 29 जून 1995 को सद्गुरुदेव श्री रामलाल जी सियाग से दीक्षित हुआ। दूसरे दिन ही मैंने परिवार के सदस्यों को गुरुदेव की फोटो के सामने बिठाकर ध्यान करवाया। सबका ध्यान लगा। उसके बाद मैंने विद्यालय में प्रार्थना स्थल पर गुरुदेव के फोटो से ध्यान करवाया। उसके बाद विभिन्न विद्यालयों में एवं अन्य लोगों को भी फोटो के समक्ष बिठाकर ध्यान करवाने लगा।

पता

Indian Flag बाड़मेर
Image Hemant Choudhary

श्रीमती सुनीता व घनश्याम चौधरी बताते है कि हमारा बेटा हेमन्त जो अभी(2003) 11 वर्ष का है। इसके जन्म से ही हीमोफीलिया (जिसमें चोट लगने पर खून का थक्का नहीं जमता व खून लगातार बहता रहता है उस बीमारी को चिकित्सा विज्ञान में हीमोफीलिया कहते हैं।) बीमारी थी। हेेमन्त जब डेढ़ वर्ष का था उस समय वह सिर के बल गिरा तो उसके सिर में खून जमा होकर बड़ी गाँठ बन गयी

पता

Indian Flag नागौर

मैं, नटवरलाल पुत्र श्री दाउलाल जी, निवासी आमली का वास, श्याम जी का मन्दिर, जोधपुर। 2018 में मुझे मुँह का कैंसर हो गया। जब मुझे पता चला तो मैंने अहमदाबाद जाकर ऑपरेशन कराया। अगस्त 2018 में ऑपरेशन हुआ।

पता

Indian Flag जोधपुर

अपने अनुभव शेयर करें

साधक वेबसाइट पर एक फॉर्म सबमिट करके या व्हाट्सएप पर अपने अनुभव शेयर कर सकते हैं

एक फॉर्म भरें व्हाट्सएप पर