लम्बे अन्तराल के बीच जीसस कहाँ थे

Sketch छंद और उनके अर्थ
Go to ‘बाइबल की भविष्यवाणियाँ के अर्थ’

गुरू सियाग कहते हैं कि पश्चिम में ईसाई धर्म के अनुयायी जब सिद्धयोग दर्शन में बताई गई विधि से ध्यान करना आरम्भ करेंगे तो वे जान जायेंगे कि जीसस की अपने आसपास के वातावरण से लम्बी अनुपस्थिति के पीछे सच्चाई क्या है।

गहन ध्यान के दौरान जीसस के अनुयायी विजन्स (दृश्य) देखेंगे, उससे यह सच्चाई प्रकट होगी कि जीसस कहाँ थे और किसमें व्यस्त थे।

इस प्रकार बाइबल स्पष्ट भविष्यवाणी करती है।

  • अरे देखो, तुम्हारा घर सुनसान हो गया है

    मैथ्यू २३:३८

  • क्योंकि मैं तुमसे कहता हूँ, वे मुझे अबसे नहीं देख सकेंगे, जब तक कि वह यह नहीं कहेंगे, जो ईश्वर के नाम पर आ रहा है वह उसका (ईश्वर का) आशीर्वाद पा चुका है ।

    मैथ्यू २३:२९

शेयर करेंः

नवीनतम जानकारी

स्पिरिचुअल साइंस पत्रिका एवं लेटेस्ट विडियो सीधे अपने मेलबॉक्स में प्राप्त करें ।